शनिवार, 27 दिसंबर 2008

मुंबई के शहीदों और भारतीय सेना को समर्पित रहेगा आज का कवि सम्मेलन

हिंदू उत्सव समिति सीहोर द्वारा  27 दिसम्बर शनिवार को स्थानीय बस स्टैंड परिसर में  आयोजित होने वाले  अखिल भारतीय कवि सम्मेलन को एक माह पूर्व ठीक 27 नवम्बर को मुंबई में हुए आतंकी हमले में शहीद हुए भारत के जांबाज सैनिकों तथा समूची भारतीय सेना को समर्पित किया गया है । इस कवि सम्मेलन में देश भर के शीर्ष कवि और कवियित्रियां काव्य पाठ करने के लिये पधार रहे हैं । हिंदू उत्सव समिति के मीडिया प्रभारी  प्रदीप समाधिया ने जानकारी देते हुए बताया कि मुंबई में आतंकवादियों के साथ वीरता के साथ लड़ते हुए शहीद हुए भरतीय सेना के जाबांज वीर शहीदों को समर्पित इस अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में क्षेत्रीय विधायक श्री रमेश सक्सेना उपस्थित रहेंगें । कवियों में श्री विनीत चौहान , श्री वेदव्रत वाजपेयी, हास्य कवि श्री अलबेला खत्री,  गीतकार श्री कुंवर जावेद, हास्य कवि श्री सांड नरंसिहपुरी, श्री रमेश शर्मा,  सुश्री अनु शर्मा सपन, मदन मोहन चौधरी समर,  श्री हजारीलाल हवालदार, कवि जलाल मयकश, मंच संचालक श्री संदीप शर्मा, शामिल हैं । सूत्रधार कवि  पंकज सुबीर  हैं ।

9 टिप्‍पणियां:

  1. गुरु जी सदर प्रणाम,
    बहोत ही उत्सुकता से इंतजार है इस कवि सम्मलेन का ....अपनी पचासवी ग़ज़ल की पोस्ट पे आपका आशीर्वाद चाहूँगा अगर आपको फुर्सत मिले इस एक्लाब्या के लिए ...


    आपका
    अर्श

    जवाब देंहटाएं
  2. सूत्रधार कवि पंकज सुबीर हैं....
    दिल गद गद हो गया ये पंक्ति पढ़ कर....अब ये बताईये की ये सब देखने सुनने को कब और कैसे मिलेगा? आप अकेले ही इसका आनंद लें ये तो कोई अच्छी बात नहीं है...सम्मेलन की सफलता के लिए शुभकामनाएं...
    नीरज

    जवाब देंहटाएं
  3. गुरु जी प्रणाम
    इश्वर से सतत प्रार्थना है की समारोह अच्छे से संपन्न हो
    ------------------------------------------
    क्लास कब से शुरू कर रहे है बताने की कृपा करें
    तीसरे तरही मुशायरे के लिए क्या मिसरा सानी मिलेगा इस उत्सुकता के साथ
    - आपका वीनस केसरी

    जवाब देंहटाएं
  4. कवि-सम्मेलन के रिपोर्ट का बेसब्री से इंतजार है.तमन्ना तो थी सर आने की मगर छुट्टी ही अनुमोदित नहीं हो पायी...और सेना को समर्पित है सुन कर तो मन और कैसा-कैसा हो गया है
    "उन्नी" को जरूर याद किजियेगा सर

    जवाब देंहटाएं
  5. सुबीर जी
    कवि समेलन की सफलता के लिए शुभकामनाएं

    जवाब देंहटाएं
  6. गुरूजी, सम्मेलन की विस्तृत रिपोर्ट नीरज की तरह से ब्लाग पर पोस्ट करें तो हम भी रसास्वादन कर सकें।

    जवाब देंहटाएं
  7. पंकज भाई,
    आपकी ग़ज़लों के शेर सुने मज़ा आ गया। पूरी ग़ज़लें सुनता तो मज़ा आ जाता।

    वाह वाह वाह वाह।

    जवाब देंहटाएं