मंगलवार, 1 जनवरी 2008

ये कमर छत्तीस से अड़तीस हो गइ सात में, देखना होगा कि जायेगी कहाँ तक आठ में, है हमारे पास जो कुछ वो गुलामी से मिला, मेरे बच्चों को पढाया जा रहा है पाठ में,

TEPA2

नए साल की सभी को शुभकामनाएं हों आप सभी के लिये नया साल सुखद हो और आपके लिये वो सभी रास्‍ते खोल दे जिनको आप खोलना चाह रहे हैं । 2008 के बारे में कहा जा रहा है कि ये काल का साल है पर हम कवि हैं हमारा तो ये ही कहना है कि जो कुछ भी होगा अच्‍छा होगा और सर्वे भवन्‍तु सुखिन: की कामना हमारे मन में हमेशा रहती है । नय साल जो कि हमें कुछ नया करने की प्रेरणा देता है और हमें याद दिलाता है कि जो काम पिछले साल में अधूरे रह गए हैं उनको पूरा करना है साथ में कुछ नए संक्‍ल्‍पों के साथ कुछ और स्‍वप्‍न भी देखने हैं, स्‍वप्‍न जो कि हम अपनी आंखों में संजोएं और प्रयत्‍न करने की राह पर चलें की वो पूरे हों । हम आशाओं के नए दीप जलाकर इस नए साल का स्‍वागत करें । अभिनव  का कहना है कि  ये कमर छत्‍तीस से अड़तीस हो गई सात में, देखना होगा कि जाएगी कहां तक आठ में । मेरा कहना है कि यूं ही दो इंच्‍ा हर साल तरक्‍की भी करो । एक और नया साल अपनी सुनहरी किरणों के साथ आ गया है हम सब हर साल की तरफ आशा भरी नजरों से देखते हैं और सोचते हैं कि देखें ये नया साल हमारे लिये वो सारे स्‍वप्‍न लेकर आया है कि नहीं जो हम देखना चाह रहे हैं । गा़लिब ने कहा था इक बराहमन ने कहा है कि ये साल अच्‍छा है ।

TEPA1

आज मुशायरा है और केवल तीन ही कवियों की ग़ज़लें मिलीं हैं उनको ही आज लगाया जाएगा । किसी शायर की ये पंक्तियां याद आ रही हैं। 

बर्फ छाए तो पहाड़ों को नशा छाता है ,

गीत चलने से चरागों को नशा आता है,

साल गुज़रा है मियां तुम गए गुज़रे न लगो,

जनवरी नाम से हर साल नया आता है ।

रहनुमाओं ने कहा है कि ये साल अच्‍छा है

दिल के खुश रखने को ग़ालिब ये ख़याल अच्‍छा है ।

मुशायरा जारी रहेगा ब्रेक के बाद

2 टिप्‍पणियां:

  1. पंकज जी, आपको और आपके परिवार को नया साल मुबारक !

    मेरे लिए तो 2007 बहुत अच्छा रहा कि आपसे परिचय हुआ, आशा है इस साल आपसे बहुत कुछ जानने को मिलेगा।

    अन्नपूर्णा

    उत्तर देंहटाएं
  2. पंकजजी,

    आपके एवं आपके परिवार को नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें ।

    हमारी तो कमर अभी ३० है इसलिये कुछ कह नहीं सकते :-)

    उत्तर देंहटाएं