शुक्रवार, 16 नवंबर 2007

सुकवि रमेश हठीला के शिवना प्रकाशन से प्रकाशित काव्य संग्रह बँजारे गीत का विमोचन 17 नवम्बर को आप सभी सादर आमंत्रित हैं कृपया अवश्‍य पधारिये ।

सीहोर के अग्रणी साहित्यिक प्रकाशन शिवना प्रकाशन के तीसरे काव्य संग्रह सुकवि रमेश हठीला के बँजारे गीत का विमोचन आगामी 17 नवम्बर को लीसा टॉकीज़ प्रांगण में होने वाले अखिल भारतीय कवि सम्मेलन के मंच पर किया जाएगा । उल्लेखनीय है कि शिवना प्रकाशन द्वारा इससे पूर्व स्व. मोहन राय के दो काव्य संग्रहों झील का पानी और गुलमोहर के तले का प्रकाशन किया जा चुका है ।
शिवना प्रकाशन के प्रकाशक पंकज सुबीर ने जानकारी देते हुए बताया कि सीहोर के सुप्रसिध्द कवि श्री रमेश हठीला का काव्य सँग्रह बँजारे गीत के नाम से प्रकाशन द्वारा प्रकाशित किया गया है । इस काव्य सँग्रह का विमोचन पुलिस महानिरीक्षक तथा कवि श्री पवन जैन, सीहोर के प्रथम नागरिक नगर पालिका अध्यक्ष श्री राकेश राय, वरिष्ठ व्यंग्यकार माणिक वर्मा द्वारा अखिल भारतीय हास्य कवि सम्मेलन के मंच पर किया जाएगा । हिंदी में श्रंगार गीतों के लिये तथा उनका सुमधुर कंठ से गायन करने के लिये प्रसिध्द श्री हठीला का ये प्रथम काव्य संग्रह है । वे विभिन्न समाचार पत्रों में समसामयिक विषयों पर प्रकाशित अपनी कुंडलियों के लिये भी चर्चित रहे हैं ।देश के कई नगरों में अखिल भारतीय कवि सम्मेलन के मंचों पर उन्होंने काव्य पाठ कर सीहोर को गौरवान्वित किया है ।  सीहोर में साहित्यिक गतिविधियों में चेतना जागृत करने के लिये उन्होंने काफी कार्य किया है तथा अभी भी शिवना एवं शहर की अन्य साहित्यिक संस्थाओं से जुड़कर वे साहित्य की सेवा कर रहे हैं । श्री हठीला को उनकी साहित्यिक सेवाओं के लिये कई संस्थाओं द्वारा समय समय पर सम्मानित किया जा चुका है आपको जिले का प्रतिष्ठित पं जनार्दन सम्मान, सिध्दपुर सारस्वत सम्मान, भारतीय स्टेट बैंक द्वारा हिंदी दिवस पर सम्मान, शिवाराध्या समिति द्वारा सम्मान, लायंस क्लब द्वारा साहित्य सम्मान, बोहरा समाज द्वारा सम्मान आदि दिये जा चुके हैं ।  विमोचन के अवसर पर श्री हठीला को सम्मानित भी किया जाएगा । श्री हठीला के काव्य संग्रह की भूमिका हिंदी के सुप्रसिध्द कवि श्री चंद्रसेन विराट ने लिखी है ।  काव्य संग्रह में उनके गीतों गजलों मुक्तकों और छंदों का संकलन है । उल्लेखनीय है कि 17 नवम्बर को लीसा टॉकी प्रांगण में होने वाले अखिल भारतीय हास्य कवि सम्मेलन में देश के दिग्गज हास्य कवि पधार रहे हैं । शिवना प्रकाशन  सभी सुधी श्रोताओं से विमोचन एवं कवि सम्मेलन में पधारने की अपील करता है ।

2 टिप्‍पणियां: