सोमवार, 8 जून 2009

ओमप्रकाश आदित्‍य जी, नीरज पुरी जी और लाड़सिंह गुर्जर जी को ब्‍लाग जगत के सभी कवियों की ओर से श्रद्धांजलि, ओम व्‍यास ओम जी और जानी बैरागी जी के लिये हम ईश्‍वर से प्रार्थनारत हैं ।

मध्‍यप्रदेश के संस्‍कृति विभाग के कवि सम्‍मेलन विदिशा से भोपाल लौटते समय जिस इनोवा गाड़ी में श्री ओमप्रकाश आदित्‍य जी, श्री नीरज पुरी जी, श्री लाड़सिंह गुर्जर जी, श्री ओम व्‍यास ओम जी और श्री जानी बैरागी जी सवार थे उसको किसी अज्ञात वाहन ने सुबह साढ़े पांच बजे टक्‍क्‍र मार दी और टक्‍कर इतनी भीषण थी कि देश के वरिष्‍ठतम कवि दादा ओमप्रकाश जी आदित्‍य, हास्‍य के कवि श्री नीरज पुरी जी और श्री लाड़सिंह गुर्जर जी की घटनास्‍थल पर ही मृत्‍यु हो गई और हास्‍य सम्राट ओमप्रकाश ओम इस समय भोपाल के पीपुल्‍स अस्‍पताल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे हैं साथ ही धार के कवि श्री जानी बैरागी जी भी गंभीर अवस्‍था में भर्ती हैं । समूचे ब्‍लाग जगत के कवियों की ओर से  श्री आदित्‍य जी श्री पुरी जी और श्री गुर्जर जी को श्रद्धांजलि ।

2368096841_54ed4a6b72 

छंदों के बेताज बादशाह दादा ओमप्रकाश आदित्‍य जी को मेरा प्रणाम और श्रद्धांजलि ।

niraj-puri

अपनी अनूठी शैली के हास्‍य कवि और एक अच्‍छे मित्र भाई नीरज जी को श्रद्धांजलि ।

gurjar

अपने ही क्षेत्र के श्री लाड़सिंह गुर्जर को मेरी श्रद्धांजलि ।

मन बहुत दुखी है इन सबके लिये क्‍योंकि सबके साथ कभी न कभी मंच पर रहने का मौका मिला है ।

इन के लिये  मन ईश्‍वर से दुआ कर रहा है कि कुछ चमत्‍कार कर इन दोनों के प्राणों की रक्षा कर दे । आइये आप भी मेरे साथ श्री ओम व्‍यास ओम जी तथा श्री जानी बैरागी जी के लिये ईश्‍वर से प्रार्थना करें । ओम जी से मेरे पारिवारिक संबंध हैं तथा उनसे आत्‍मीयता का एक रिश्‍ता है । मुझे याद पड़ता है कि जब भी उनके संचालन में मैंने कविता पढ़ी है तो उन्‍होंने पूरे समय मेरा हौसला बढ़ाया है । आज जब वे भोपाल के पीपुल्‍स अस्‍पताल में जीवन और मृत्‍यु के बीच संघर्षरत हैं तो शायद आपकी दुआएं ही चमत्‍कार कर सकती हैं ।

om-vyas-om jani-varigii

श्री ओम व्‍यास ओम जी                  श्री जानी बैरागी जी ।

35 टिप्‍पणियां:

  1. दादा आदित्यजी, भाई नीरज पुरीजी, भाई लालजी को भरी आंखों से श्रदांजलि।हंसाने वाले इस तरह से रुलाकर जायेंगे कभी सोचा ना था।
    भाई ओमजी के लिए और भाई बैरागीजी के लिए प्रार्थना जारी है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. आप निश्चिंत रहें...ओम व्यास ओम और ज्ञानी बैरागी जी को कुछ नहीं होगा...संकट की ये घडी टल जायेगी...हम लोगों की दुआएं जरूर असर लायेंगी...
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस खबर को सुनने के बाद सुबह से ही मन व्यथित है। परमात्मा ओमप्रकाश आदित्य जी, नीरज पुरी जी और लाड़ सिंह गुर्जर जी की आत्मा को शांति दे। ओमव्यास जी और जानी बैरागी जी शीघ्र स्वास्थ्य लाभ कर हमारे बीच उपस्थित हों, यही कामना है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. अभी अभी मैंने साधना न्यूज पर यह दुखद समाचार सुना है जानकर बड़ा दुःख हुआ .
    ओमप्रकाश आदित्‍य जी, नीरज पुरी जी और लाड़सिंह गुर्जर जी को ब्‍लाग जगत के जबलपुर के सभी ब्लागर्स की ओर से श्रद्धांजलि,

    उत्तर देंहटाएं
  5. अभी अभी मैंने साधना न्यूज पर यह दुखद समाचार सुना है जानकर बड़ा दुःख हुआ .
    ओमप्रकाश आदित्‍य जी, नीरज पुरी जी और लाड़सिंह गुर्जर जी को ब्‍लाग जगत के जबलपुर के सभी ब्लागर्स की ओर से श्रद्धांजलि,

    उत्तर देंहटाएं
  6. खबर पढ़ कर ही सन्न रह गया हूँ। कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं हूँ।

    उत्तर देंहटाएं
  7. समाचार है कि ओम व्‍यास जी की हालत स्थिर है डाक्‍टरों का कहना है कि 24 घेटे बाद ही कुछ कह पायेंगें । जानी बैरागी की हालत खतरे से बारह है ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. आदित्यजी, नीरज पुरीजी और लालजी की खबर दुःख भरी है प्रभू उनकी आत्मा को शान्ति दे......... मेरा विशवास है ओम व्यास ओम और ज्ञानी बैरागी जी को प्रभू शीघ्र ही भला चंगा कर देंगे ...........

    उत्तर देंहटाएं
  9. हम भी अपने श्रृद्धा सुमन समर्पित करते हैं।
    एक नजर यहां पर देखें
    नहीं रहे वे वीर- जिनको कहते थे सब हबीब तनवीर

    उत्तर देंहटाएं
  10. ओमप्रकाश आदित्य जी का हास्य कविताओं का एक अलग अंदाज़ था, जिसमें उनकी प्रस्तति के हाव भाव का एख अलग तरीका था। उनकी तोता मैना की प्रेम कथा पर आधारित हास्य कविता बहुत पसंद आई थी मुझे एक टी०वी० कार्यक्रम में। आज नेट पर ढूँढ़ने पर नही मिली।

    तीन अच्छे कवियों का यूँ आकस्मिक विछोह और दो कवियों का ऐसे हालात मे होना स्तब्ध कर रहा है।

    उत्तर देंहटाएं
  11. बहुत ही दुखद समाचार.......ईश्वर मृतकों की आत्मा को शान्ती और जो लोग जीवन मृ्त्यु के मध्य झूल रहे हैं, उन्हे शीघ्र स्वास्थय लाभ प्रदान करे।

    उत्तर देंहटाएं
  12. बहुत ही हृदय विदारक दुर्घटना है. सुबह आपकी टिपणी ( नीरज जी के ब्लाग पर ) से मालु्म पडा , फ़िर दोपहर के अखबारों मे यह समाचार पढकर अवाक हैं. सभी चेहरे इतने जाने पहचाने और आत्मिय हैं कि कुछ कहने की स्थिति मे नही हूं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  13. आदित्य जी जैसे झटके दे देकर हसाते थे . उम्मीद ना थी जाते समय यू झटका देकर जायेगे . ओम जी और बैरागीजी को हमारी शूभकामनाये जल्द ठीक हो फ़िर से हमारे बीच अपनी रचनाये सुनाते नजर आये

    उत्तर देंहटाएं
  14. hardya vidarak samachar sun kar aaghat laga. aaj hindi hashya kavita anath ho gai. om vyas vah jani baragi ke shighra swath hone ki prathana bhagvan se karata hu.

    उत्तर देंहटाएं
  15. कुछ समझ में नहीं आ रहा गुरूदेव इस हृदयविदारक समाचार को सुनकर....
    ईश्‍वर के इस खेल को समझ पाना मुश्‍किल है कि अच्छे लोगों के साथ ही ऐसा क्यों होता है?

    उत्तर देंहटाएं
  16. शाम को आफिस से लौटने के बाद टीवी पर ये खबर सुनकर मन खट्टा हो गया। हास्य के धुरंधर समय के क्रूर हाथों से इस तरह छीन लिए जाएँगे ऍसा किसने सोचा था।

    उत्तर देंहटाएं
  17. ओह इतनी गंभीर हृदयविदारक खबर भगवान् इन तीनो कलम के जादूगरों के आत्मा को शांति दे .. इन्हें नाम आँखों और ह्रदय से नमन और श्रधांजलि ....ब्यास जी और बैरागी जी को कुछ नहीं होने वाला इश्वर इतना तो कठोर नहीं हो सकता ... वो जरुर हमारी सुनेगा और इन्हें जल्द ही घोर संकट से निकालेगा... दुखी हो जाता हूँ ऊपर वाले की ऐसी करामात से आखिर कलाकारों और अछे लोगों के साथ ऐसा क्यूँ कर देता है वो... हे प्रभु जल्द ही इन्हें संकट से निकालो...

    उत्तर देंहटाएं
  18. महाशोक-हृदयविदारक-दिवंगत आत्माओं को श्रृद्धांजलि!!

    उत्तर देंहटाएं
  19. दुखद समाचार से मन सँतप्त है
    ये कैसा हादसा हो गया ? :-(
    दीवगँत की आत्मा के लिये
    सच्चे ह्रदय से प्रार्थना करते हुए,
    श्रध्धा सुमन भेज रही हूँ
    - लावण्या

    उत्तर देंहटाएं
  20. गुरु जी प्रणाम
    जब हम अच्छे और सुखद पलों की कामना करते है तो कभी कभी ऐसा दुख का पहाड़ टूट पड़ता है की कुछ कहने सुनने की क्षमता समाप्त हो जाती है
    दुखद समाचार है

    वीनस केसरी

    उत्तर देंहटाएं
  21. ऐसे दुखद समाचार स्तब्ध कर देते है.... बस ईश्वर से उनके लिए प्रार्थना कर सकते है....

    उत्तर देंहटाएं
  22. स्तब्ध हूँ !

    इश्वर हमारी दुआएं सुने ,सब कुशल हो .सभी परिवार जनों को इस वेला में वही ताकत दे ,हम नीरीह मानव असहाय हैं !

    सभी ब्रम्हलीन आत्माओं को विनम्र श्रद्धांजलि !

    उत्तर देंहटाएं
  23. Is dukhad ghadee me hamaree prabhu se vintee hai kee sabkee prarthnayen sweekar hon.

    उत्तर देंहटाएं
  24. महाशोक
    हम स्तब्ध है
    इस घटना ने सभी को हिला
    दिया

    उत्तर देंहटाएं
  25. कल का दिन साहित्य जगत के लिये वाकई बहुत भारी रहा. तीन-तीन शीर्षस्थ कवियों के साथ-साथ पूज्य हबीब तनवीर जी का हमें छोड्कर जाना असहनीय है. प्रभु कल्याण करें..

    उत्तर देंहटाएं
  26. sir ,

    is dukhad ghatna se man bahut vichlit hua hai .. meri ishwar se prarthna hai ki dono mahoday jaldi se swasth ho jaayen ..

    naman

    उत्तर देंहटाएं
  27. वरिष्ठतम कवि श्री ओमप्रकाश जी आदित्य , कवि श्री नीरज पुरी जी और श्री लाड़सिंह गुर्जर जी
    के निधन से अपूरणीय क्षति हुई है. मेरा परिवार उनके परिवार के दुःख में अपने को सहभागी बनाते हुए परमपिता परमेश्वर से प्रार्थना करता है कि वे दिवंगत आत्माओं को शांति प्रदान करें और उनके परिजनों को इस शोकाकुल घड़ी में धैर्य प्रदान करें.
    पंकज सुबीर जी की टिप्पणी पढ़कर पता लगा कि श्री ओम व्यास जी श्री जानी बैरागी की हालत में सुधार है, यह सुनकर दिल को राहत मिली. हम परमपिता परमेश्वर से यही प्रार्थना करते हैं कि उन्हें शीघ्र ही स्वास्थ्य लाभ हो.

    उत्तर देंहटाएं
  28. divangat aatmaon ko shradha suman, aur ishwar se shri om vyas ji aur shree jaani bairagi ke sheegrah swasth hone ki kamna karta hoon.

    उत्तर देंहटाएं
  29. teenon kaviyon ko bhav purna shradhanjali.

    om vyaas ji aur jaani bairaagi ji ke liye ishwar se prarthna karta hun sheeghra swasyh hon.

    उत्तर देंहटाएं
  30. अत्यंत दुखद समाचार है यह...
    साहित्य जगत की अभूतपूर्व क्षति है....ईश्वर दिवंगत आत्माओं को सदगति दें..


    श्री ओम व्यास जी श्री जानी बैरागी ke liye bhagwaan से प्रार्थना करते हैं कि उन्हें शीघ्र ही स्वास्थ्य लाभ हो.

    उत्तर देंहटाएं
  31. ह्रदय में आज शोक है.विकल हो रो रहा अभी

    अभी तो आस पास थे गए वो खो कहाँ सभी

    शोक और दुःख भरी निस्तब्धता...!

    श्रद्धांजली और नमन,

    प्रकाश सिंह

    उत्तर देंहटाएं
  32. दुखद घटना। साहित्य जगत की अभूतपूर्व क्षति है ईश्वर दिवंगत आत्माओं को सदगति दें। और घायल कवि जल्द ही स्वस्थ होकर हमारे बीच फिर से सक्रिय हो जाए ऐसी दुआ है हमारी।

    उत्तर देंहटाएं