शनिवार, 19 सितंबर 2009

राष्‍ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर जी की स्‍मृति में आयोजित कवि सम्‍मेलन । दादा गोपालदास नीरज जी को सुनने इस कवि सम्‍मेलन में अवश्‍य पधारें ।

कल ही काम को पूरा करके बैठा हूं और आज दिल्‍ली जाना हो रहा है । रामधारी सिंह दिनकर जी की स्‍मृति में आयोजित होने वाले आयोजन में । आयोजन के अंतिम सत्र में कवि सम्‍मेलन आयोजित होता है । उसी में भाग लेने के लिये जा रहा हूं । आप सब भी पधारिये । दादा गोपाल दास नीरज जी को सुनने के लिये ।

dinkar ji

9 टिप्‍पणियां:

  1. दादा नीरज जी को सुनना तो सच में एक विलक्षण अनुभव होता है। कवि-सम्मेलन के विस्तृत विवरण का इंतज़ार रहेगा। यात्रा मंगलमय हो।

    उत्तर देंहटाएं
  2. सफलतम काव्यपाठ के लिए हार्दिक शुभ कामनाएं

    आपकी यात्रा यशस्वी हो..........

    जय माता दी........

    उत्तर देंहटाएं
  3. मन मसोस कर रह गये हैं गुरूदेव हम तो...आपको और नीरज को सुनने का ऐसा दुर्लभ अवसर...आह!

    और तस्वीर ने सम्मोहित कर दिया है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. गुरु देव को सादर प्रणाम,
    बहुत दुःख हो रहा है के ये सुनहरा मौका जिसमे आपको और दादा नीरज को एक साथ सुनाने का मौका मिलता मेरे हाथ से जा रहा है .. बहुत ही दुःख हो रहा है मुझे , कुछ असामयीक परेशानियों के चलते वरना पता नहीं मैंने क्या गुनाह किया था ... खैर ये तो लाइफ में चलता रहता है ...
    आपका कार्यक्रम ..
    दिल्ली के मावलंकर हॉल में रविवार सायं को ६-९ है ..

    .. विशेष रिपोर्ट के इंतज़ार में रहूँगा... नवरात्र की शुभकामनाओं के साथ ...

    आपका
    अर्श

    उत्तर देंहटाएं
  5. गुरुदेव,
    बेसब्री से इस कविसम्मेलन की शानदार कविताओं का आपके ब्लॉग पर इन्तजार किया जारहा है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. नव रात्र पर - जय माता दी !
    आ . नीरज जी को ,
    मेरी ओर से ,
    ख़ास सादर नमस्ते कहियेगा
    और ये भी अवश्य कहना के
    " मैं उनके गीतों की प्रसंशिका हूँ !!
    आप के गीत भी रंग जमायेंगें
    इस पर पूरा भरोसा है -
    भाई प्रकाश जी से सहमत -
    आगे,
    आपके इस सुन्दर जालघर पर ,
    काव्य पाठ के लिंक्स सुन पायें
    ऐसा करीयेगा - प्रतीक्षा रहेगी !
    सादर स स्नेह,
    आपकी बहन,
    - लावण्या

    उत्तर देंहटाएं
  7. प्रणाम गुरु जी,
    थोडी बहुत जानकारी तो आपसे फ़ोन पे मिल गयी है, विस्तृत पोस्ट का इंतज़ार है साथ में आपकी कही गयी ग़ज़लों और कविताओं सहित.

    उत्तर देंहटाएं
  8. मुझसे आपकी ये पोस्ट कैसे मिस हो गयी...सोचे ही जा रहा हूँ ...जवाब नहीं मिल रहा...अब तो आप वापस आ गए हैं...इंतज़ार है पूरे कार्यक्रम की जानकारी का...और हाँ आप कुरते पायजामे में -ओये तेरा क्या कहना- टाईप के लग रहे हैं...चश्मे बद्दूर...
    नीरज

    उत्तर देंहटाएं