शनिवार, 5 अप्रैल 2008

देखिये हास्‍य व्‍यंग्‍य से भरपूर टेपा सम्‍मेलन की चित्रमय झांकी



जज का मेकअप तो करना ही होगा तभी तो वो जज लगेंगें । टेपा जज ओम मोदी का मेकअप विक्‍की के द्वारा।






भई जज ने सजा सुनाई है कि नाचो तो नाचना तो होगा ही । पूर्व विधायक और आंचलिक पत्रकार संघ के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष श्री शंकर लाल साबू का नृत्‍य।





उफ नाचने में श्री शंकरलाल साबू का पेटीकोट ही खिसक गया ।





नाचना तो पड़ा भाजपा के जिला उपाध्‍यक्ष श्री राजकुमार जी गुप्‍ता को भी भई सजा तो सजा ही है ।





और ये सजा कि कांग्रेस के पूर्व विधायक श्री शंकरलाल साबू और भाजपा के पूर्व विधायक श्री मदन लाल त्‍यागी जी साथ ही नाचें ।







अरे भाई पेटीकोट पहनना भी नहीं आता । व्‍यवसायी श्री कैलाश अग्रवाल को पेटीकोट धारण करवाते श्री कमल झंवर ।



फंस गया ना फंसना तो था ही तोंद जा बढ़ा रखी है इतनी ।








आप पहले तो ये सड़ी सब्जियों से बना गुलदस्‍ता ग्रहण करें लायनेस अध्‍यक्ष रीता दुबे जी ।





भले ही आप ब्‍यूटी पार्लर चलाती हों पर हम तो केमल के रंगों से ही करेंगें मेकअप ।






जज साहब ओम मोदी तैयार हैं अपनी झाड़ू के साथ अदालत के लिये ।







थोड़ा मेकअप करवा लीजिये राजकुमार गुप्‍ता जी यही कह रहे हैं पास खड़े कालेज के प्राचार्य श्री भगचंद जी जैन जी ।




आप तो पेटीकोट इस तरह से ही पहन लो ऊपर से फस जाता है । पूर्व विधायक श्री साबू को धारण करवाते पत्रकार श्री पुरुषोत्‍तम कुइया ।







जरा आपका मेकअप कर दूं शायर महोदय । डॉ कैलाश गुरू स्‍वामी का मेकअप करते प्रमोद जोशी ।



जम रहे हो शायर साहब







मेरी लंबाई ज्‍यादा है पेटीकोट छोटा पड़ जाएगा यही कह रहे हैं पूर्व विधायक मदन लाल त्‍यागी ।






पूर्व पार्षद किन्‍नर पायल जान के चित्र के सम्‍मुख चिमनी जला रहे हैं । चिर कुआरे नागरिक बैंक के अध्‍यक्ष श्री प्रेमबंधू शर्मा ।




सूत्रधार पंकज सुबीर गले में सीटी बांधे और बिना कांच का चश्‍मा लगाए ।







किन्‍नर पायल जान के चित्र को प्रणाम कीजिये राजकुमार गुप्‍ता जी ये ही कह रहे हैं दैनिक जागरण के ब्‍यूरो चीफ शैलेष तिवारी ।






सूपे में रखकर लाए जा रहे हैं पेटीकोट




चलिये आप तो झाड़ू के छत्र के नीचे चलें । पूर्व विधायक जी कह रहे हैं सुरेंद्र सिंह ठाकुर ।

4 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत उम्दा रहा चित्रों का अवलोकन. आभार इस प्रस्तुति के लिये.

    उत्तर देंहटाएं
  2. अच्छा लगा देख कर पढ़ कर
    ये अद्भुत टेपा सम्मेलन
    और पढ़ा है उड़न तश्तरी के
    उर का भी अन्तर्वेदन
    अगले वर्ष बुलायें उनको, और साथ
    नीरज गोस्वामी
    जोड़ें और नये टेपागण,
    हाथ जोड़ कर यही निवेदन

    उत्तर देंहटाएं
  3. ये कैसा समारोह था??? पहली बार देखा सुना!
    चित्रों से ही मालूम चलता है की बहुत मनोरंजक रहा होगा.
    अच्छा है रोज़ की भाग दौड़ में ऐसे आयोजन भी होने चाहिये.
    धन्यवाद.

    उत्तर देंहटाएं