सोमवार, 31 दिसंबर 2018

शिवना साहित्यिकी का वर्ष : 3, अंक : 12 त्रैमासिक : जनवरी-मार्च 2019

मित्रों, संरक्षक एवं सलाहकार संपादक, सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra , प्रबंध संपादक नीरज गोस्वामी Neeraj Goswamy , संपादक पंकज सुबीर Pankaj Subeer , कार्यकारी संपादक, शहरयार Shaharyar Amjed Khan , सह संपादक पारुल सिंह Parul Singh के संपादन में शिवना साहित्यिकी Shivna Prakashan का वर्ष : 3, अंक : 12 त्रैमासिक : जनवरी-मार्च 2019 का वेब संस्करण अब उपलब्ध है। इस अंक में शामिल है- आवरण कविता / आलोक धन्वा। संपादकीय / शहरयार Shaharyar । व्यंग्य चित्र / काजल कुमार Kajal Kumar । पीढ़ियाँ आमने-सामने / चौपड़े की चुड़ैलें / महेश कटारे Mahesh Katare / पंकज सुबीर Pankaj Subeer । समीक्षा पत्र- एक शहर देवास, कवि नईम और मैं! / डॉ. विजय बहादुर सिंह Vijay Bahadur Singh / प्रकाश कान्त Prakash Kant । कथा समीक्षा- मालूशाही! मेरा छलिया-बुरांश / पंकज सुबीर Pankaj Subeer / प्रज्ञा Pragya Rohini । मर... नासपीटी ! / चिरइ चुरमुन और चीनू दीदी / सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra / पंकज सुबीर Pankaj Subeer । नई पुस्तक- मैं रुक जाऊँ, तो तुम चलना... / डॉ. सुशील सिद्धार्थ Sushil Siddharth । फ़िल्म समीक्षा- बधाई हो / वीरेन्द्र जैन Virendra Jain / निर्देशकः अमित रविन्द्रनाथ शर्मा। पुस्तक चर्चा- आतंकवाद पर बातचीत / तेजस पूनिया Tejas Poonia / डॉ. पुनीत बिसारिया, अश्वत्थामा यातना का अमरत्व / दीपक गिरकर Deepak Girkar / अनघा जोगलेकर, नई मधुशाला / अशोक अंजुम Ashok Anjum / सुनील बाजपेयी ‘सरल’, कितना कारावास / राजेंद्र मोहन भटनागर / मुरलीधर वैष्णव Murlidhar Vaishnav । पुस्तक समीक्षा- राग मारवा / अंकित नरवाल Ankit Narwal / ममता सिंह Mamta Singh , ख़ुद से जिरह / जीवन सिंह ठाकुर @jeevan singh thakur / विनोद डेविड, भीतर दबा सच / डॉ. दामोदर खड़से Damodar Khadse / डॉ. रमाकांत शर्मा, संकल्प और सपने / विनिता राहुरिकर Vinita Rahurikar / सदाशिव कौतुक Sadashiv Kautuk , तब तुम कहाँ थे ईश्वर / कुमार विजय गुप्त / आरती तिवारी Arti Tiwari , हरिप्रिया / ऋतु भनोट Bhanot Ritu / कृष्णा अग्निहोत्री Krishna Agnihotri , आज़ादी का जश्न / प्रभाशंकर उपाध्याय @prabhashankar upadhay / राजशेखर चौबे, चारों ओर कुहासा है / डॉ. अजय अनुपम / रघुवीर शर्मा Raghuvir Sharma , भास्कर राव इंजीनियर / घनश्याम मैथिल ‘अमृत’ Ghanshyam Maithil Amrit / अरुण अर्णव खरे Arun Arnaw Khare , सच कुछ और था / डॉ. सीमा शर्मा सीमा शर्मा / सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra। नाटक समीक्षा- राजा की रसोई, प्रज्ञा Pragya Rohini / रमेश उपाध्याय Ramesh Upadhyaya । आवरण चित्र राजेंद्र शर्मा बब्बल गुरू Babbal Guru , डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी Sunny Goswami Sonu Perwal । आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्करण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
ऑन लाइन पढ़ें-

ऑन लाइन पढ़ें-

https://www.slideshare.net/shivnaprakashan/shivna-sahityiki-january-march-2019

https://issuu.com/home/published/shivna_sahityiki_january_march_2019

साफ़्ट कॉपी डाउनलोड करें

http://www.vibhom.com/shivnasahityiki.html

2 टिप्‍पणियां:

  1. tafsir ahlam تفسير الاحلام : هو عبارة عن القيام بتحليل التخيلات التي تحدث أثناء النوم، فمنها ما يكون واضحاً جلياً للحالم ومنها ما يكون مفككاً يحتاج إلى تفسير وتوضيح من قبل المهتمين والمختصين بذلك. الأحلام ممكن أن تكون رؤى من عند الله تبشره بشيء أو تحذره من شيء، وهذا يعود إلى من يقوم بتفسيره وتحليله ففيه تحذير للحالم وتبشير له يمكنك تفسير حلمك بكل سهولة من خلال موقعنا dream interpretation symbols

    उत्तर देंहटाएं