शनिवार, 14 जनवरी 2017

शिवना साहित्यिकी का जनवरी-मार्च 2017 अंक

      मित्रों, संरक्षक तथा सलाहकार संपादक सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra, प्रबंध संपादक नीरज गोस्वामी Neeraj Goswamy , संपादक पंकज सुबीर तथा सह संपादक पारुल सिंह Parul Singh के संपादन में शिवना साहित्यिकी का जनवरी-मार्च 2017 अंक अब ऑनलाइन उपलब्धl है। इस अंक में शामिल है :- आवरण चित्र पल्लवी त्रिवेदी Pallavi Trivedi, आवरण कविता / लालित्य ललित Lalitya Lalit  संपादकीय शहरयार Shaharyar  व्यंग्य चित्र / काजल कुमार Kajal Kumar  संस्मरण नासिरा शर्मा Nasera Sharma (सौजन्य गीताश्री Geeta Shree)  कविताएँ, कुछ कविताएँ सरहद पार से.. ज़ेबा अल्वी । कहानी दिलों की एक आवाज़ ऊपर उठती हुई ... मुकेश वर्मा Mukesh Verma  आलोचना राकेश बिहारी Ravi Buley की कहानी पर । फिल्म समीक्षा के बहाने, दंगल, वीरेन्द्र जैन Virendra Jain  पुस्तक-आलोचना, सत्कथा कही नहीं जाती, क्यों?, संतोष चौबे Santosh Choubey  डायरी, धरमिंदर पाजी दा जवाब नहीं, नीरज गोस्वामी Neeraj Goswamy  पेपर से पर्दे तक..., कृष्णकांत पंड्या Krishna Kant Pandya  यात्रा-वृत्तांत, अंडमान निकोबार द्वीप, संतोष श्रीवास्तव Santosh Srivastava, समीक्षा, महेश दर्पण Mahesh Darpan / डेक पर अँधेरा / हीरालाल नागर Hiralal Nagar , सरिता शर्मा / पृथ्वी को हमने जड़ें दीं / नीलोत्पल Neelotpal Ujjain , जया जादवानी Jaya Jadwani / नक़्क़ाशीदार केबिनेट/ सुधा ओम ढींगरा Sudha Om Dhingra , हृदेश सिंह/ वाबस्ता / पवन कुमार Pawan Kumar Ias , महत्त्वपूर्ण पुस्तकें, तीन विधाएँ, तीन लेखक, तीन पुस्तकें / लता सुरगाथा- यतीन्द्र मिश्र Yatindra Mishra , हाशिये का राग- सुशील सिद्धार्थ Sushil Siddharth , चांद डिनर पर बैठा है- स्वप्निल तिवारी Swapnil Tiwari  पड़ताल- शिवना पुस्तक विमोचन समारोह Partap Sehgal प्रेम जनमेजय Sushil Siddharth Pragya Rohini Jyoti Jain Suryakant Nagar Nirmla Kapila Neeraj Goswamy Parul Singh Sudha Om Dhingra , तरही मुशायरा Nusrat Mehdi Neeraj Goswamy Tilak Raj Kapoor Ismat Zaidi Shifa Saurabh Pandey गिरीश पंकज kumar Prjapati धर्मेन्द्र कुमार सिंह Digamber Naswa naveen chaturvedi Devi Nangrani Sanjay Dani Ashwini Ramesh Pooja Bhatia sandhya rathore prasad dinesh kumar anshul tiwari नकुल गौतम Pankaj Subeer  डिज़ायनिंग सनी गोस्वामी Sunny Goswami आपकी प्रतिक्रियाओं का संपादक मंडल को इंतज़ार रहेगा। पत्रिका का प्रिंट संस्करण भी समय पर आपके हाथों में होगा।
      ऑन लाइन पढ़ें

    http://www.slideshare.net/shivnaprakashan/shivna-sahityiki-january-march-2017
    https://issuu.com/shivnaprakashan/docs/shivna_sahityiki_january_march

    2 टिप्‍पणियां:

    1. बहत खूब पर नए साल के मुशायरे की तमन्ना दिल में ही दबकर रह गयी ।

      उत्तर देंहटाएं
    2. wah wah, bahut badhiya guru ji....bhagwan kare shivna khoob tarakki kare

      उत्तर देंहटाएं